UP Election 2022: कल अलीगढ़ में SP और RLD की संयुक्त रैली, लाल टोपी और हरी टोपी पहन कर आएंगे कार्यकर्ता

UP Assembly Election 2022: किसानों के मसीहा कहे जाने वाले चौधरी चरण सिंह की जन्म जयंती के अवसर पर अलीगढ़ के इगलास में समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल की संयुक्त रैली होने वाली है. इस आयोजन को सफल बनाने के लिए आरएलडी और एसपी के कार्यकर्ता जी जान से जुटे हुए हैं. दावा किया जा रहा है कि यह रैली ऐतिहासिक होगी. अलीगढ़ का इगलास कस्बा आरएलडी के प्रभाव क्षेत्र का माना जाता है. ऐसे में राष्ट्रीय लोक दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन आगरी का कहना है कि कल की होने वाली रैली ऐतिहासिक होगी और लाखों लोगों की भीड़ जुटेगी. ऐसे में प्रधानमंत्री के लाल टोपी वालों को रेड अलर्ट यानी खतरे का निशान बताने वालों को भी कल जवाब दिया जाएगा. राष्ट्रीय लोक दल के सभी कार्यकर्ता कल रैली में हरी टोपी पहन कर आएंगे. वहीं, समाजवादी पार्टी के सभी कार्यकर्ता लाल टोपी पहनकर आएंगे. पीएम मोदी ने साधा था निशाना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल टोपी वालों पर निशाना साधा था और उनको रेड अलर्ट यानी खतरे का निशान बताया था. ऐसे में कहा था कि लाल टोपी वाले यानी वह लोग जो हमेशा कानून व्यवस्था का मखौल उड़ाते हैं, जनता उनसे दूर रहे. कुल मिलाकर कल होने वाली रैली में रंगों की राजनीति तेज होती हुई नजर आएगी. मैनपुरी में अखिलेश यादव ने कल पलटवार करते हुए कहा था कि लाल रंग क्रांति का प्रतीक है. ये भी पढ़ें- चाचा शिवपाल यादव का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव बोले- जैसे ही उनकी पार्टी को साथ लिया... UP Election 2022: जानिए 2003 में बीजेपी ने सरकार बनाने में किस तरह की थी मुलायम की मदद

UP Election 2022: कल अलीगढ़ में SP और RLD की संयुक्त रैली, लाल टोपी और हरी टोपी पहन कर आएंगे कार्यकर्ता

UP Assembly Election 2022: किसानों के मसीहा कहे जाने वाले चौधरी चरण सिंह की जन्म जयंती के अवसर पर अलीगढ़ के इगलास में समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल की संयुक्त रैली होने वाली है. इस आयोजन को सफल बनाने के लिए आरएलडी और एसपी के कार्यकर्ता जी जान से जुटे हुए हैं. दावा किया जा रहा है कि यह रैली ऐतिहासिक होगी.

अलीगढ़ का इगलास कस्बा आरएलडी के प्रभाव क्षेत्र का माना जाता है. ऐसे में राष्ट्रीय लोक दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन आगरी का कहना है कि कल की होने वाली रैली ऐतिहासिक होगी और लाखों लोगों की भीड़ जुटेगी. ऐसे में प्रधानमंत्री के लाल टोपी वालों को रेड अलर्ट यानी खतरे का निशान बताने वालों को भी कल जवाब दिया जाएगा. राष्ट्रीय लोक दल के सभी कार्यकर्ता कल रैली में हरी टोपी पहन कर आएंगे. वहीं, समाजवादी पार्टी के सभी कार्यकर्ता लाल टोपी पहनकर आएंगे.

पीएम मोदी ने साधा था निशाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल टोपी वालों पर निशाना साधा था और उनको रेड अलर्ट यानी खतरे का निशान बताया था. ऐसे में कहा था कि लाल टोपी वाले यानी वह लोग जो हमेशा कानून व्यवस्था का मखौल उड़ाते हैं, जनता उनसे दूर रहे. कुल मिलाकर कल होने वाली रैली में रंगों की राजनीति तेज होती हुई नजर आएगी. मैनपुरी में अखिलेश यादव ने कल पलटवार करते हुए कहा था कि लाल रंग क्रांति का प्रतीक है.

ये भी पढ़ें-

चाचा शिवपाल यादव का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव बोले- जैसे ही उनकी पार्टी को साथ लिया...

UP Election 2022: जानिए 2003 में बीजेपी ने सरकार बनाने में किस तरह की थी मुलायम की मदद